कादर खान को महानायक अमिताभ बच्चन को अमित बुलाना पड़ा था महंगा, जानिए पूरी कहानी!

कादर खान को महानायक अमिताभ बच्चन को अमित बुलाना पड़ा था महंगा, जानिए पूरी कहानी!

आज के समय बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को कौन नहीं जनता । भारत में उनके चाहने वालों की कमी नहीं है । भारत में कई लोग हैं जो अमिताभ बच्चन को भगवान की तरह मानते हैं । अमिताभ बच्चन का सफ़र आज फ़िल्मी दुनिया में लगभग 4-5 दर्शक का हो गया हैं उन्होंने 80 के दर्शक में फ़िल्मी दुनिया में एक अलग और अपनी एक मजबूत पहचान बनाई।

अभिनेता कादर खान ने अमिताभ बच्चन के साथ कई हिंदी फिल्मों में काम किया हैं। कादर खान फिल्म इंडस्ट्री के उन इंसानों में से है जिन्होंने फ़िल्मी दुनिया में अच्छी खासी पहचान बनाई। वह उन बॉलीवुड हस्तियों में शामिल हैं जिन्होंने अपने फिल्मों से हमेशा लोगों का मनोरंजन करवाया और अपनी अदाकारी के दम पर लोगों के दिलों में जगह भी बनाई। कादर खान अदाकारी के अलावा स्क्रीन प्ले औऱ फिल्म के डायलॉग्स भी लिखा करते थे। 300 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके कादर खान की अमिताभ बच्चन के साथ अच्छी खासी दोस्ती थी। कादर खान एक दोस्त के रूप में अमिताभ बच्चन को अमित कहकर बुलाया करते थे।

एक इंटरव्यू के दौरान कादर खान ने कहा – ” अमित जी को मैं हमेशा अमित करके पुकारता था। तो वहाँ मौजूद किसी ने मेरे पास आकर कहा कि आप सरजी को मिले वह साउथ के प्रोड्यूसर थे। तो मैंने आश्चर्य से पूछा कौन सरजी तो उन्होंने कहा वो लंबे से आदमी। तो मैंने कहा कि वह तो हमारे अमित है,सरजी क्यों। उस समय सब वहां अमित को अमित जी, सरजी कहते थे। मेरे मुंह से नहीं निकला तो मैं निकल गया वहां से। इसके बाद मेरे और अमिताभ जी के बीच सब कुछ बदल गया आप ही बताएं क्या कोई अपने भाई को किसी दूसरे नाम से बुला सकता है. मैं खुदा गवाह में नहीं रहा, गंगा जमना सरस्वती मैंने आधी लिखी आधी छोड़ दी। फिर कुछ फिल्में जो मैंने नहीं लिखीं पर थोड़ी कीं लेकिन फिर छोड़ दीं।’

कादर खान ने अपनी आपबाती बताते हुए कहा कि मैंने इससे पहले एक फिल्म बनाई थी। उस फिल्म में मुझे बड़ी तकलीफ हुई थी। किसी एक्टर को कभी भी फिल्म प्रोड्यूसर नहीं बनना चाहिए । उस जमाने में उसी समय अमित जी की फिल्म कुली बन रही थी तो मैं जब उस समय फिल्म का आखिरी दिन वहाँ से शूट करके निकल रहा था तब अमित जी ने मुझे आवाज दी । उन्होंने मुझसे कहा कि तुम एक काम करो कि आज घर जाओ। परसों वापस आ जाना ताकि हम यहीं पर तुम्हारी फिल्म का अनाउंसमेंट कर देंगे, बल्कि मुहूर्त ही कर देंगे। मैंने उनसे कहा ठीक है।

आगे कादर खान ने कहा कि, “इसके बाद में उस दिन घर जाने की तैयारी में था तभी मेरे पास अमित जी के भाई का फोन आया और उन्होंने कहा कि आप मत आओ अमित जी का एक्सीडेंट हो गया है, बाद में पता चला कि अमित जी ज्यादा सीरियस है उसके बाद में तुरंत फ्लाइट पकड़कर वहां पहुंचा और उन्हें वहाँ से मुंबई लेकर आए। ठीक होने के बाद अमित जी अपने आप राजनीति में सक्रिय हो गए और उनका जीवन पूरी तरह बदल गया और फिर उनके साथ में भी रिश्ते वैसे नहीं रहे जैसे पहले थे!”

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!