सालों बाद छलका ‘शत्रुघ्न सिन्हा का दर्द, 46 साल बाद बताया क्यों ठुकरा दिया था शोले फिल्म

हिंदी सिनेमा के 107 साल के इतिहास में जो कालजयी फ़िल्में मानी जाती है उनमें ‘शोले’ का नाम भी प्रमुखता के साथ लिया जाता है. शोले फिल्म हिंदी सिनेमा के इतिहास की सबसे सफ़ल और चर्चित फिल्मों में से एक है. इस फिल्म में दिग्गज़ों की भरमार थी और फिल्म भी उतनी ही सुपरहिट हुई. इस फिल्म ने हिंदी सिनेमा को एक नया आयाम दिया था.

शोले ने हाल ही में अपने 46 साल पूरे किए हैं. 15 अगस्त 1975 को रिलीज हुई यह फिल्म उस दौरान की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्ट फिल्म में से एक थी. इसकी फिल्म की लोकप्रियता आज 46 सालों के बाद भी इतनी है कि जब फिल्म टीवी पर आती है तो अब भी दर्शक इसे बड़े चाव के साथ देखना पसंद करते हैं.

शोले से जुड़ी कई किस्से बेहद मशहूर है, हालांकि इस बात से बहुत कम लोग वाकिफ़ है कि ‘शोले’ पहले हिंदी सिनेमा के दिग्गज़ अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा को ऑफर हुई थी. इस बात का खुलासा खुद शत्रुघ्न ने किया था. बता दें कि, बीते दिनों जब ‘शॉटगन’ के नाम से मशहूर शत्रुघ्न टीवी के चर्चित सिंगिंग रियलिटी शो इंडियन आइडल 12 पर पहुंची थी तब उन्होंने एक किस्सा सुनाया था.

बता दें कि, शत्रुघ्न अपनी पत्नी पूनम सिन्हा के साथ शो में बतौर मेहमान आए थे. जहां बातचीत में शत्रुघ्न ने ख़ुलासा किया कि 46 साल पहले उन्हें ‘शोले’ फिल्म हुई थी, हालांकि उन्हें आज भी इस बात का बहुत मलाल होता है कि उन्होंने शोले के ऑफर को ठुकरा दिया था. बता दें कि, इंडियन आइडल 12 के जज हिमेश रेशमिया ने शत्रुघ्न सिन्हा से सवाल किया था कि आपने शोले फिल्म में काम करने से क्यों मना कर दिया था ? जवाब में अभिनेता ने कहा कि, ‘ जब उन्हें शोले का ऑफर का मिला, उस समय वह पहले से ही दो फिल्मों की शूटिंग कर रहे थे और दोनों फिल्मों में डबल हीरो थे. डेट के कारण उन्होंने शोले का ऑफर ठुकरा दिया’.

शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे इस पर बात करते हुए कहा था कि, मैं इससे दुखी होने की जगह खुश हूं क्योंकि शोले के कारण मेरे अच्छे दोस्त अमिताभ बच्चन को एक बड़ा ब्रेक मिला था. गौरतलब है कि शोले में सदी के महानायक अमिताभ बच्चन, दिग्गज़ अभिनेता धर्मेंद्र, हेमा मालिनी, जाया बच्चन, अमजद खान, संजीव कुमार जैसे दिग्गज़ों ने मुख्य भूमिका निभाई थी. अमिताभ जय जबकि धर्मेंद्र वीरू के रोल में थे. इस जोड़ी ने ‘शोले’ में बेहतरीन काम कर इतिहास रच दिया था.

‘शोले’ के हर एक किरदार हर एक डायलॉग ने दर्शकों के दिलों में ख़ास जगह बनाई थी. वहीं इसका गाना ‘ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे’ भी सुपरहिट हुआ था. आज भी जब दोस्ती की बात होती है तो हर किसी को यह गाना और जय-वीरू की जोड़ी ही याद आती है. फिल्म में जया बच्चन, हेमा मालिनी, संजीव कुमार और अमजद खान ने भी अपने संजीदा अभिनय से चार चांद लगा दिए थे.

फिल्म में वो सब कुछ था जिसने इसे कालजयी और हिंदी सिनेमा की महान फिल्म बना दिया था. इसका निर्देशन दिग्गज़ निर्देशक रमेश सिप्पी ने किया था. वहीं इस फिल्म की कहानी को जावेद अख्तर और सलीम खान ने मिलकर लिखा था.

साथ ही आपको एक रोचक बात यह भी बता दें कि, वीरू के रोल में नजर आए धर्मेंद्र की इच्छा ‘ठाकुर’ का रोल अदा करने की थी. हालांकि जब उन्हें यह बताया गया कि ‘वीरू’ के अपोजिट ‘बसंती’ के रोल में हेमा मालिनी नज़र आएगी तो उन्होंने तुरंत ‘वीरू’ के रोल के लिए हामी भर दी.

वहीं हेमा भी ‘बसंती’ नहीं बनना चाहती थे, लेकिन रमेश सिप्पी के कहने और समझाने पर वे इस रोल के लिए एक बाद में राजी हो गई थी.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है. BollyTic अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!